October 24, 2017

मनरेगा ने दी डान्डा पंचायत के विकास कार्यों को गति

06 MNREGA Mein Kaam Karte Gramin BDO Paonta Ke Saath
जिला सिरमौर के उपमण्ड़ल पांवटा साहिब की ग्राम पंचायत डान्डा ने मनरेगा के अन्तर्गत चालू वितवर्ष के दौरान फरवरी, 2014 तक लगभग 41 लाख रुपये व्यय कर जहां पूरे विकास खंड में अग्रणी बनी है तो वहीं विकास कार्यों को भी गति प्रदान की है। मनरेगा के तहत इस पंचायत में विभिन्न विकास कार्यों को किया गया है जिसमें विशेषकर कूहलों का निर्माण शामिल है। जिससे जहां अब पानी सीधे लोगों के खेतों तक पहुंच रहा है तो वहीं अब किसानों को सिंचाई के लिए वर्षा पर निर्भर नहीं रहना पड रहा है। आज मनरेगा के माध्यम से हुए इन विकास कार्यों से लोगों की खेतीवाडी को भी प्रोत्साहन मिला है तथा लोग अब अच्छी फसल की उम्मीद कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त गांव में लोगों की आवाजाही बेहतर हो इसके लिए भी कच्चे व पक्के रास्ते व सड़कें भी बनाई गई हैं साथ ही भूमि सुधार के कार्य भी किए गए हैं। फरवरी,2014 तक इस पंचायत में कुल 631 जाॅब काॅर्ड बनाए गए हैं तथा 383 लोगों के काम मांगने पर 364 को काम मुहैया करवाया गया है जिसमें से 28 लोगों ने 100 दिन का कार्य पूर्ण किया है। इसी दौरान 18496 कार्य दिवस अर्जित किए गए हैं। जबकि इस दौरान किए गए विकास कार्यों में से 32 इंदिरा आवास योजना व भूमि सुधार के कार्य भी शामिल हैं।
क्या कहना हैं प्रधान काः
इस संबंध में प्रधान डान्डा पंचायत कल्याण सिंह का कहना है कि मनरेगा के तहत इस पंचायत में कूहलें, कच्ची व पक्की सडकें, कच्चे रास्ते, टैंक, भूमि सुधार इत्यादि के काम किए गए हैं जिससे जहां पंचायत के विकास कार्यों को एक गति मिली है तो वहीं लोगों को घर-द्वार में ही रोजगार के अवसर भी मिले हैं। इसी तरह इसी विकास खंड की छछैती, हरिपुर खोल, कान्डो कांसर व कठवार पंचायतों में भी फरवरी, 2014 तक लगभग 16 से 18 लाख रुपये मनरेगा के तहत खर्च किए जा चुके हैं। छछेती पंचायत में 232 लोगों के जाॅब काॅर्ड बनाए गए हैं तथा 156 लोगों के काम मांगने पर 146 को काम मुहैया करवाया गया है। इस दौरान कुल 8580 कार्य दिवस अर्जित किए गए हैं तथा 24 लोगों ने 100 दिन कार्य पूर्ण किया है। जबकि हरिपुर खोल पंचायत में भी 436 लोगों को जाॅब काॅर्ड दिए गए हैं तथा 212 लोगों के काम मांगने पर 197 को काम दिया गया है। इस दौरान 9685 कार्य दिवस अर्जित हुए हैं तथा 11 लोगों ने 100 दिन का कार्य पूर्ण कर लिया है। यही नहीं जहां इसी विकास खंड की कांडो-कांसर पंचायत ने भी इसी दौरान 560 लोगों के जाॅब काॅर्ड बनाए तथा 218 लोगों के मांगने पर 152 लोगों को काम मुहैया करवाया गया। जबकि इस दौरान 7207 कार्य दिवस अर्जित किए गए तथा 22 लोगों ने सौ दिन का कार्य पूर्ण किया है। वहीं कठवार पंचायत में भी 328 लोगों के जाॅब काॅर्ड बनाए गए हैं तथा 191 लोगों के काम मांगने पर 181 को काम दिया गया। इस दौरान कुल 7921 कार्य दिवस अर्जित किए गए हैं। इसी तरह इस विकास खंड की अम्बोया, भरोग बनेडी, कांटी-मश्वा, टटियाना पंचायतों ने भी मनरेगा के तहत लगभग 13-14 लाख रुपये व्यय कर लिए हैं। जबकि डोबरी सालवाला व खोदरी पंचायत में भी 12-13 लाख रुपये के विकास कार्य मनरेगा के तहत करवाए गए हैं। पांवटा विकास खंड में फरवरी माह तक मनरेगा के तहत लगभग 4 करोड रुपया खर्च किया जा चुका है तथा कुल 22,245 जाॅब कार्ड बनाए गए हैं जिसमें से 6226 लोगों के काम मांगने पर 5219 को काम उपलब्ध करवाया गया है। इस दौरान कुल 2,09,283 कार्य दिवस अर्जित किए गए हैं जिसमें से अनुसूचित जाति के 63,197, अनुसूचित जनजाति के 4492 तथा 59,058 महिलाओं के कार्य दिवस शामिल हैं। इसी दौरान 235 लोगों ने सौ दिन का कार्य भी पूर्ण किया है।
क्या कहते हैं अधिकारीः
इस संबंध में खंड विकास अधिकारी पांवटा साहिब श्री ललित दुल्टा का कहना है कि इस विकास खंड की कुछ पंचायतें मनरेगा के तहत बेहतर कार्य कर रही हैं जिसमें डान्डा पंचायत भी शामिल है। जहां इन पंचायतों में विकास की गति बढ़ी है तो वहीं लोगों को ग्रामीण स्तर पर ही रोजगार के अवसर भी मिले हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *