Header ad
Header ad
Header ad

मण्डी जिला के स्कूलों में वर्षा जल संग्रहण ढॉंचों के निर्माण पर लगभग एक करोड़ 66 लाख रूपये व्यय : – उपायुक्त

मण्डी 19 सितम्बर, 2013

मण्डी जिला के 10 विकास खण्डों में लगभग एक करोड़ 66 लाख रूपये की राशि व्यय करके स्कूलों के भवनों की छत्तों के माध्यम से संग्रहित किए जाने वाले 152 वर्षा जल संग्रहण ढॉंचों का निर्माण किया गया जिनके माध्यम से 318$44 लाख लिटर वर्षा जल संग्रहित किया जा सकता है । यह जानकारी उपायुक्त श्री देवेश कुमार ने आज खण्ड विकास अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त मण्डी जिला में लोगों की घरों की छत्तों से गिरने वाले वर्षा जल को इक्ट्ठा करने के लिए 7536 व्यक्तिगत जल संग्रहण ढांचों की मंजूरी प्रदान की गई है जिसमें से 1240 का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है तथा 1251 वर्षा जल संग्रहण ढॉंचों का निर्माण कार्य प्रगति पर है । उन्होंने बताया कि इस प्रकार से ग्रामीण क्षेत्रों में निर्मित किए जा रहे वर्षा जल संग्रहण ढॉंचों के माध्यम से इक्ट्ठे किए गए जल का उपयोग शौचालयों के अतिरिक्त फसलों की सिंचाई व पशुओं के पालन-पोषण के प्रयोग में लाया जा सकता है । उन्होंने कहा कि जल संग्रहण के कार्य को प्राथमिकता प्रदान की जा रही है तथा नालों में चैकडैम स्थापित किए जा रहे हैं, तालाबों का निर्माण किया जा रहा है तथा सर्वोच्च प्राथमिकता छत्तों के माध्यम से संग्रहित किए जाने वाले जल के भण्डारण ढॉंचों के निर्माण को प्रदान की जा रही है ।
श्री देवेश कुमार ने खण्ड विकास अधिकारियों व वर्षा जल संग्रहण ढांॅचों के निर्माण से जुड़े सभीं अधिकारियों से आह्वान किया कि वे वर्षा जल संग्रहण ढॉंचों के निर्माण को प्राथमिकता प्रदान करें । उन्होंने कहा कि जिला में जहॉं-जहॉं वर्षा जल संग्रहण ढांचों को निर्माण चल हुआ है उनका निर्माण कार्य शीघ्र पूरा करें तथा जहॉं जल संग्रहित करने की संभावना व आवश्यकता हो वहॉं पर भी इस प्रकार के ढॉंचों का निर्माण किया जाये।
जिला में संचालित मनरेगा की समीक्षा करते हुए उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत इस वित्त वर्ष में अब तक लगभग 35 करोड़ 65 लाख रूपये व्यय किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष इन्दिरा आवास योजना के तहत 1070 घरों के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है जिसके तहत लगभग 8 करोड़ 2 लाख रूपये अनुदान के रूप में दिए जायेंगे । उन्होंने बताया कि इस वित्त वर्ष के दौरान राजीव गांधी आवास योजना के तहत 226 घरों का निर्माण किया जायेगा तथा इन घरों के लिए लोगों को 84 लाख 67 हजार रूपये का अनुदान दिया जायेगा । उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत लाईन डिपार्टमैन्टों द्वारा विभिन्न विकास योजनाओं पर चालू वित्त वर्ष में अब तक लगभग 3 करोड़ 49 लाख रूपये व्यय किए जा चुके हैं ।
उन्होंने बताया कि जिला में दो लाख 3 हजार 945 मनरेगा में कार्यरत व्यक्तियों के आधार नम्बारों की सीडिंग एमआईएस में की गई है ।
उपायुक्त ने विकास अधिकारियों से कहा कि अधूरे विकास कार्यों को शीघ्र पूरा करें तथा युटिलाजेशन सर्टिफिकेट्स भी शीघ्र भेजें । उन्होंने कहा कि अधूरे कार्यों को समय पर पूरा न करने पर सम्बन्धित अधिकारी की जिम्मेदारी भी सुनिश्चित की जायेगी । उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जो भी शिकायतें या समस्याएं उनके समक्ष आती हैं उनका निपटारा भी शीघ्र करें । उन्होंने निर्देश दिए कि जो जॉंच के मामले उनके पास लम्बित पड़े हुए हैं उनका निपटरा भी शीघ्र करें।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त श्री गोपाल चन्द, आईएएस परीविक्षाधीन) श्री हरिकेश मिणा, परियोजना अधिकारी ग्रामीण विकास अभिकरण मण्डी श्रीमती भावना शर्मा सहित सभीं खण्ड विकास अधिकारी उपस्थित थे ।
00000

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *