October 22, 2017

मणिपुर में हुए आतंकी हमले में सात हिमाचली शहीद

ddddमंडी। हरिपुरधार, बिलासपुर, गरली, मणिपुर में सेना के काफिले पर हुए उग्रवादी हमले में शहीद हुए जवानों में से सात हिमाचल के हैं। हिमाचल का ही एक और जवान हमले में घासल भी हुआ है। शहीद हुए हिमाचली जवानों में सबसे ज्यादा तीन मंडी जिला के, दो सिरमौर के तथा एक-एक जवान कांगड़ा व बिलासपुर जिला का है। सिरमौर जिला से संबंध रखने वाले दो जवानों में हरिपुरधार के समीप डकासना गांव के निवासी नायक अशोक कुमार (30) नंबर 4000062 वाई और पांवटा तहसील के गांव मानपुर देवड़ा के निवासी सिपाही सोहन सिंह (26) नंबर 4009885 शहीद शामिल हैं। नायक अशोक कुमार अपने पीछे पत्नी अंजना (30) और दो बेटियां इशिता और आशी को छोड़ गए हैं। इसी प्रकार मानपुर देवड़ा के सिपाही सोहन सिंह अपने पीछे पत्नी रजनी (21) तथा तीन वर्षीय बेटी नवनीत को छोड़ गए हैं। मंडी जिला से शहीद हुए तीन जवानों में एक लडभड़ोल और दो दंग विधानसभा क्षेत्र के हैं। लडभड़ोल के पटनू गांव के 26 वर्षीय सिपाही विकास भारद्वाज पुत्र रमेश भारद्वाज, दं्रग विस के तहत गांव मसेरन के 31 वर्षीय सिपाही मनोज कुमार पुत्र स्वर्गीय नागेंद्र कुमार और ग्राम पंचायत सियुन के गांव चाउट के 36 वर्षीय हवलदार प्रकाश चंद पुत्र मंगरू राम ने मणिपुर में शहादत पाई है। कांगड़ा जिला से शहीद हुआ जवान रजनीश कुमार (35) पुत्र स्वर्गीय खुशी राम गांव मूंही (गरली) का है। रजनीश अपने पीछे पत्नी समिता कुमारी व दो बेटों को छोड़ गया है। हमले में घायल हुआ जवान भी गरली के ही नजदीक बड़ा रक्कड़ का है। आशीष कुमार (34) पुत्र कुलदीप ठाकुर की बाजू व टांग में गोलियां लगी हैं लेकिन उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बिलासपुर से शहीद राजेश कुमार (37) पुत्र जोगेंद्र सिंह औहर क्षेत्र के हीरापुर निवासी थे। वह अपने पीछे पत्नी व 12 साल को बच्चा छोड़ गए हैं। इन शहीदों के शव शनिवार तक उनके पैतृक गांव पहुंचने की उम्मीद है। अपने जवानों की शहादत से पूरा हिमाचल गमगीन है और शहीदों के परिवारों के साथ है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *