October 17, 2017

मक्खन की मूर्ति बनी हजारों श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र

2015_1image_09_54_504952000mandir2-llकांगड़ा: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में मकर संक्रांति के अवसर पर एक मंदिर में मक्खन से बनी मूर्ति हजारों श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। मंदिर के एक अधिकारी ने कहा कि बारिश के बीच बुधवार को प्रसिद्ध ब्रजेश्वरी देवी मंदिर में हजारों श्रद्धालु पूजा करने और 15 कुंटल मक्खन से बनी मूर्ति की एक झलक पाने के लिए मंदिर पहुंचे। मंदिर के अधिकारी पवन बडयाल ने बताया कि इस मूर्ति को 14 पुजारियों ने तैयार किया है। यह मूर्ति 20 जनवरी तक देवी के आसन पर आसीन रहेगी। मकर संक्रांति के अवसर पर स्थापित इस मूर्ति को घी से तैयार किया गया है। यह घी मंदिर में श्रद्धलुओं ने दान दिया था। पुजारियों ने मूर्ति को पवित्र जल से 108 बार शुद्ध किया। इस मंदिर में मकर संक्रांति का सात दिन का पर्व मनाया जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, जब असुरों से युद्ध करते हुए देवी घायल हो गई थीं तो उनके घाव भरने के लिए मकर संक्रांति पर भगवान ने घी का प्रयोग किया था। मक्खन की मूर्ति को हटाने का काम 20 जनवरी से शुरू होगी और फिर उसे श्रद्धालुओं के बीच बांट दिया जाएगा। ऐसी मान्यता है कि इससे पुराने त्वचा रोग और जोड़ों के दर्द ठीक हो जाते हैं। उत्तर भारत के व्यस्ततम मंदिरों में से एक ब्रजेश्वरी मंदिर में पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली और उत्तर प्रदेश से भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *