Header ad
Header ad
Header ad

बीबी जागीर कौर को पांच साल की कैद,जेल भेजी गई

चंडीगढ़।अपनी बेटी हरप्रीत कौर की हत्या मामले में साजिश रचने के आरोप में पंजाब की कैबिनेट मंत्री बीबी जागीर कौर को पटियाला की सीबीआई की स्पेशल अदालत ने दोषी करार दिया है। अदालत ने बीबी जागीर कौर को पांच साल कैद की सजा सुनाई है। दोपहर बाद सुनाए गए मामले में अदालत ने बीबी जागीर कौर को हत्या के आरोपों से बरी कर दिया।
पुलिस ने बीबी जागीर कौर को अदालत के बाहर से हिरासत में ले लिया है। सीबीआई के वकील आर के हांडा ने कहा कि कौर को हिरासत मेंं ले लिया।
अदालत ने बीबी जागीर कौर को बेटी पर जबरन गर्भपात कराने का दबाव डालने, उसका अपहरण करने और बंदी बनाकर रखने का दोषी करार दिया है। बीबी जागीर कौर मौजूदा समय में भुल्लथ विधानसभा हलके से अकाली दल की विधायक है और बादल सरकार में जलापूर्ति , सफाई, डिफेंस मामले और पेंशन विभाग की मंत्री है।
पटियाला स्थित सीबीआई के विशेष जज बलबीर सिंह ने अपने फैसले में बीबी जागीर कौर के अलावा तलवंडी कौर देसी, निशान सिंह, और परमजीत सिंह को भी धारा 313,365 और 120बी के तहत पांच पांच साल की सजा सुनाई है। इस मामले में दो आरोपियों सत्यादेवी और हरविंदर सिंह को अदालत ने सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है।
फैसला सुनाए जाने के दौरान बीबी जागीर कौर अदालत में मौजूद थी। पुलिस ने पूरे अदालत परिसर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हे।
गौर हो कि हरप्रीत कौर की 20 अप्रैल 2000 को रहस्यमय स्थिति में मौत हो गई थी। जागीर कौर के दामाद ने आरोप लगाया था कि हरप्रीत कौर की उसकी मांग ने हत्या की है क्यों वो उसकी और हरप्रीत के रिश्ते से नाखुश थी। दामाद कमलजीत ने ये भी आरोप लगाया था कि हरप्रीत पर जबरन गर्भपात कराने का दबाव डाला गया था। जब पुलिस ने इस हत्याकांड मे एफआईआर दर्ज नहीं की तो हरप्रीत कौर के पति कमलजीत सिंह ने 27 अप्रैल 2000 को पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटा दिया। हाईकोर्ट ने इस हाई प्रोफाइल मामले की 9 जून 2000 को सीबीआई जांच करने के निर्देश दिए। हाईकोर्ट से निर्देश मिलने के बाद सीबीआई ने तीन अक्टूबर 2000 को इस मामले में बीबी जागीर कौर के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत एफआई आर दर्ज किए थे।बीबी जागीर कौर उस समय एसजीपीसी की अध्यक्ष थी।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)