October 21, 2017

बर्फ बनी विलेन, हिल्सक्वीन से जुदा अपर

sh14-15शिमला — पर्वतीय क्षेत्रों में तीसरी बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बर्फबारी के कारण राजधानी से ऊपरी शिमला कट गया है। पहाड़ों की रानी शिमला से ऊपरी क्षेत्र को जाने वाली सड़कों पर बर्फ पड़ने के कारण यातायात भी थम गया है। बर्फबारी के कारण जहां शिमला शहर के जाखू की संपर्क सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप रही। वहीं ऊपरी शिमला की तरफ जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी बर्फबारी के कारण बे्रक लग गई। पहाड़ों के दिल शिमला में बुधवार सुबह से बर्फबारी का दौर शुरू हो गया था। मकर संक्रांति की सुबह जब लोग सो कर उठे तो शिमला की पहाडि़यां बर्फ से लकदक थी। कुदरत की छटा ने शिमला में चारों तरफ बर्फ बिखेर दी थी। बर्फबारी का दौर सुबह से ही चलता रहा। 10 बजे के बाद कुफरी, नारकंडा, खड़ा पत्थर व चौपाल के खिड़की  में वाहनों की आवाजाही बंद हो गई थी। हालांकि 10 बजे के बाद कुफरी से ठियोग तक कुछ गाडि़यां भी निकलीं, लेकिन 12 बजे के बाद इस मार्ग पर यातायात पूरी तरह थम गया था। कुफरी ही नहीं बल्कि नारकंडा, खड़ा पत्थर व चौपाल के खिड़की में भी वाहन की रफ्तार दस बजे के बाद थमनी शुरू हो गई। देर शाम तक शिमला-रामपुर मार्ग कुफरी व नारकंडा में बंद हो गया था, जबकि शिमला-रोहड़ू मार्ग, खड़ा पत्थर में बर्फबारी के कारण बंद रहा। पर्यटकों ने बर्फबारी के बीच जहां मौज मस्ती तो खूब की, लेकिन इस पल को उन्होंने कैमरे में भी कैद किया।

पांच बजे तक होती रही बर्फबारी चौपाल के खिड़की में भी बर्फबारी होने के कारण यह मार्ग भी बंद हो गया था। शिमला में पांच बजे तक बर्फबारी का दौर चलता रहा। हल्की बर्फ पड़ने के कारण शिमला से रामपुर की तरफ जाने वाली बसों को वाया मशोबरा भेजा जा रहा था, लेकिन देर शाम पांच बजे मशोबरा मार्ग भी वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया।

धूप के साथ-साथ फाहे भी शिमला में पांच बजे के बाद कुछ देर के लिए  धूप भी लगी रही और आसमान से बर्फ के फाहे भी गिर रहे थे। कुदरत के इस नजारे को देख लोग भी खुश हो रहे थे। मशोबरा में इतनी बर्फ नहीं पड़ी थी, लेकिन सड़क पर पड़ी हल्की बर्फ के कारण बसें व छोटी गाडि़यां स्किड कर रही थीं। ऐसे में मशोबरा मार्ग को भी बंद कर दिया गया। रामपुर के लिए पांच बजे के बाद वाया धामी होकर बसें भेजी गई।

देरी से पहुंची दूध, ब्रेड की सप्लाई शिमला शहर के संजौली, जाखू जहां पर सुबह से ही बर्फ पड़ रही थी। वहां पर देरी से दूध, ब्रैड की सप्लाई पहुंची, लेकिन बर्फबारी के कारण ऊपरी शिमला में जरूरी वस्तुओं की सप्लाई नहीं हो सकी, जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *