October 17, 2017

प्रदेश सरकार की योजनाओं से किसान व बागवान हो रहे लाभान्वित

मंडी, 1 जनवरी,  हिमाचल प्रदेश में उगाए जाने वाले फलों की मांग देश के अलावा विदेशों में भी बढती जा रही है । प्रदेश में अच्छी किस्म के फलों को विकसित करने के उददेश्य से प्रदेश सरकार ने अनेक प्रकार के कदम उठाए हैं तथा बागवानी विकास के लिए करोड़ों रूपये का बजट प्रावधान किया है । मंडी जिला में भी उद्यान विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है जिसके तहत सरकाघाट उपमंडल में विभाग की योजनाओं, विशेषकर बागवानी मिशन योजना का खासा असर दिख रहा है ।
सरकाघाट उपमंडल में उद्यान विभाग द्वारा किसानों को विभिन्न प्रकार के पौधे, उपकरण तथा बागीचों में ग्रीन हाउस आदि के लिए सबसिडी प्रदान की जा रही है। नवम्बर 2014 तक किसानों को 25381 फलदार पौधे वितरित किए गए तथा इनका रोपण कार्य मनरेगा के तहत किया गया ।इन फलदार पौधों में मुख्यत: अनार, बारामासी नीम्बू, कागजी निम्बू, मौसम्मी, आम, लीची, अमरूदक, आडू आदि सम्मिलित हैं । इन पौधों का रोपण 18$7409 हैक्टेयर भूमि पर करके 4202 मानव दिवस अर्जित किए गए।
वर्ष 2013-14 तथा 2014-15 में सरकाघाट उपमंडल में 11500 वर्गमीटर भूमि पर 11 ग्रीन हाउस लगवाए  गए जिन पर विभाग द्वारा एक करोड़ 34 लाख 44 हजार रूपये का उपदान दिया गया जबकि 23 बागवानों द्वारा पोली हाउसों में विभिन्न प्रकार के फूल लगाए जिन पर 50 लाख 70 हजार रूपये का उपदान दिया गया है । विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार के उपकरणों पर भी उपदान दिया जा रहा है जो कृषि कार्य में काम आते हैं तथा बोर बैल बनवाने के लिए विभाग द्वारा एक लाख तीन हजार रूपये का उपदान दिया जाता है जबकि केचुंआ खाद शैड एगंल आयरन के लिए 30 हजार तथा लकडी के शैड के लिए 15 हजार रूपये का अनुदान दिया जा रहा है ।
उद्यान विकास अधिकारी नरदेव ठाकुर ने बताया कि उद्यान विभागों द्वारा किसानों को प्रदेश सरकार द्वारा उन्हें प्रदान की जा रही येाजनाओं की जानकारी देने के लिए अन्य विभागों तथा संस्थाओं के सहयोग से ग्रामीण क्षेत्रों में समय-समय जागरूकता शिविर भी लगाए जा रहे हैं ताकि किसान व बागवान कल्याणकारी योजनाओं का फायदा उठा सकें ।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *