October 20, 2017

प्रति उत्तर-पुस्तिका मुल्यांकन 15 रुपये और रिफ्रेश्मेंट 30 रुपये प्रति-दिन करने की मांग

हिमाचल स्कूल प्रवक्ता संघ (एच पी एस एल ए) के प्रधान नरोत्त्म ठाकुर, महासचिव राजेंद्र ठाकुर, विशवनाथ मलकोटिया, राज कुमार, मुख्य संगठन सचिव पंकज कुमार बख्शी, प्रेस सचिव राम गोपाल, सदस्य परम देव, मुख्य हैड क़्वार्टर सचिव संजय देष्टा, वेब सचिव नरेश ठाकुर, कानूनी सलाहकार सुरेंद्र शर्मा ने सयुंक्त बयान में कहा कि प्लस टू व दसवीं परीक्षाओं का मुल्यांकन 28 मार्च से शुरु हो चुका है मगर अभी तक स्कूल शिक्षा बोर्ड ने मानदेय बढाने की अधिसुचना जारी नहीं की है जबकि स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष हिमाचल स्कूल प्रवक्ता संघ से मानदेय बढाने की मांग को स्वीकार किया था।10वीं और 12वीं कक्षा के पेपरों की चेकिंग को प्रदेश में 30 सेंटर बनाए गए हैं। इनमें 3 हजार से अधिक शिक्षकों की ड्यूटी लगनी है। हिमाचल स्कूल प्रवक्ता संघ के प्रधान नरोत्त्म ठाकुर ने कहा कि प्रवकताओं को एक उत्तर-पुस्तिका की जांच करने के लिये मानदेय मात्र 6 रुपये मिलता है जबकि सी बी एस सी में 20 रुपये दिये जाते हैं। इसी कारण ज्यादतर शिक्षकों में निराशा है और मुल्यांकन के कार्य में रूचि नहीं रखते। इसी कारण से बहुत सारे शिक्षकों मुल्यांकन स्थल पर नहीं पंहुचे। हिमाचल स्कूल प्रवक्ता संघ स्कूल शिक्षा बोर्ड से मांग करता है कि प्रति उत्तर-पुस्तिका मुल्यांकन 15 रुपये और रिफ्रेश्मेंट 30 रुपये प्रति-दिन किया जाये, ताकि ज्यादा से ज्यादा शिक्षक मुल्यांकन के मुल्यांकन के कार्य मे रुचि लेकर मुल्यांकन कार्य स्थल पहुंचे। इससे मुल्यांकन कार्य तेजी से होगा और परिणाम भी समय पर घोषित होगा और इससे लाखों छात्रों को लाभ होगा और वो अपने कैरियर चुनाव समय पर कर सकते हैं। अगर स्कूल शिक्षा बोर्ड उत्तर-पुस्तिका के मुल्यांकन का मानदेय नहीं बढाता तो परिणाम में देरी के लिये स्कूल शिक्षा बोर्ड ही पूरी तरह से जिम्मेवार होगा।

About The Author

Related posts