Himachal Pradesh News, Latest News of Himachal Pradesh, Online News Himachal Pradesh, Latest News of Himachal Pradesh, Hindi and English News, Bilaspur, Chamba, Hamirpur, Kangra, Kinnaur, Kullu, Lahaul and Spiti, Mandi, Shimla, Sirmour, Solan, Una,
Header ad
Header ad
Header ad

पायलटों ने 75.68 किमी. के दूसरे टास्क के लिए भरी उड़ान

cधर्मशाला, 28 अक्तूबर: पैराग्लाईडिंग विश्व कप 2015 में आज टेक ऑफ साईट बिलिंग
से 117 पायलट्स ने 75.68 किमी. के दूसरे प्रतिस्पर्धात्मक टास्क के लिए उड़ान
भरी। रंग-बिरंगी छतरियों के साथ आसमान में गोते लगाते पायलट्य सभी का मन मोह
रहे थे।
   प्रातः 11.30 बजे विंडो ओपन की गई और महज 44 मिनट में 117 पायलटों ने टास्क
के लिए उड़ान भरी, जिनमें 13 महिला प्रतिभागी भी शामिल रहीं।
     आज का टास्क रूट टेक ऑफ साईट से जोगिन्द्रनगर, कसोटी, चामुण्डा, अंदरेटा
से मंगरोली और फिर वापिस लैडिंग साईट बीड़ रहा।
     इस दौरान शहरी विकास मंत्री एवं बिलिंग पैराग्लाईडिंग एसोसिएशन के
अध्यक्ष सुधीर शर्मा ने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि आगामी दिनों में मौसम
विज्ञानियों द्वारा मौसम साफ रहने की संभावना व्यक्त करने के चलते प्रतियोगिता
के बाकि बचे दिनों में लगभग 5 टास्क सफलतापूर्वक पूरे किए जा सकेंगे।
    उन्होंने कहा कि टेक ऑफ साईट को विकसित करने से पायलट्स को फायदा हुआ है
और प्रतियोगिता में अधिक पायलट्स एक समय में इकट्ठे उड़ान भरने में सफल रहे
हैं। इस उपलब्धि से भविष्य में टेक ऑफ साईट बिलिंग की रैंकिग विश्व में नम्बर
एक होने की संभावना और मजबूत हो गई है।
‘‘पैराग्लाईडिंग विश्व कप का आनंद लेने आएंगे ब्रिटिश उप-उच्चायुक्त’’
     भारत में ब्रिटेन के उप-उच्चायुक्त डेविड लेलिऑट पैराग्लाईडिंग के रोमांच
को नजदीक से महसूस करने के लिए बीड़ बिलिंग पहुंचेगे। उनका 30 अक्तूबर को
बीड़-बिलिंग पहुंचने का कार्यक्रम है। इसी दिन गोवा राज्य के विधायक माईकल लोबो
भी पैराग्लाईडिंग विश्व कप का लुत्फ उठाने के लिए बीड़-बिलिंग आएंगे।
‘‘खेल गांव बीड़ में हिमाचली संस्कृति की झलक’’
     बीड़ स्थित खेल गांव में पर्यटकों और विभिन्न देशों से आए मेहमानों और
प्रतिभागियों को हिमाचली संस्कृति से रू-ब-रू करवाने के लिए सांस्कृतिक संध्या
का आयोजन किया जा रहा है।
     शहरी विकास मंत्री एवं बिलिंग पैराग्लाईडिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष सुधीर
शर्मा ने कहा कि खेल गांव में सांस्कृतिक संध्या के दौरान स्थानीय कलाकार कला
का प्रदर्शन कर रहे हैं, जिससे विश्वभर से आए मेहमानों को हिमाचल की समृद्ध
संस्कृति से रू-ब-रू होने का अवसर मिल रहा हैै। बड़े मंच पर प्रदर्शन का अवसर
मिलने से स्थानीय कलाकारों को भी प्रोत्साहन मिला है।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)