Header ad
Header ad
Header ad

नाचते-गाते विदा हुए देवी-देवता

Ram-21-2-300x198

मपुर बुशहर — जिला स्तरीय फाग मेले में शामिल हुए 16 देवी-देवता रामपुरवासियों को सुख-स्मृद्धि का आशीर्वाद देकर लौट गए। चार दिनों तक पूरा रामपुर देवी-देवताओं के कारण भक्तिमय बना रहा। हर कोई अपने इष्ट देव के आगे शीश झुकाता नजर आया। सुबह से ही रामपुर की सड़कों पर देवी-देवताओं का नाच-गान सभी के आकर्षण का केंद्र बना रहा। इस बार के मेले की खास बात यह रही कि सभी देवताओं को इस बार बढ़ा हुआ नजराना दिया गया। अंतिम दिन फाग मेले मे लोगों का भारी जनसमूह उमड़ा, जहां राज दरबार परिसर में पांव रखने को जगह नहीं मिली, वहीं सड़कों के किनारे भी लोग देवताओं के दर्शन के लिए खड़े नजर आए। हर कोई देवता के दर्शन को आतुर दिखा। इस बार मेले में जाख रचोली, देवता काजल गसो, देवता बसाहरा दतात्रेय स्वामी, देवी बाड़ी, देवता चत्तरखंड ब्रांदली, देवता जिशर खड़ाहण, धारा सरगा, कुल्लू सराहन, कलेडा, चंबू, डंसा, खमाड़ी, दलाश, शलाट, शनेरी, छोटू का देवता ने शिरकत की। सभी देवताओं का अपने-अपने अंदाज में पिछले तीन दिनों में आगमन हुआ, जहां कुल्लू जिला के देवी-देवताओं के देवलु अपनी पारंपरिक वेशभूषा में नजर आए, वहीं जिला शिमला के देवलुओं ने जमकर नाटी में डांस किया। एक साथ 16 देवी-देवताओं के दर्शन के लिए दूर-दूर से लोग यहां पर पहुंचते हैं। शुक्रवार को मेले का अंतिम दिन होने के कारण सभी लोग अपने इष्ट के आगे माथा टेकने के लिए आए, साथ ही अपने इष्ट को सभी भेंट स्वरूप निश्चित राशि देते हैं। दोपहर बाद राज दरबार परिसर से एक-एक कर सभी देवताओं ने रुकसत ली। देवताओं ने सभी को सुख-स्मृद्धि का आशीर्वाद दिया। यह मेला आपसी मिलन का इसलिए भी प्रतीक माना जाता है कि दूरदराज बसे अपने सगे संबंधियों से मिलने का यह एक अवसर होता है। दोपहर बाद उपमंडलाधिकारी दलीप नेगी सहित नगर परिषद अध्यक्ष दीपक सूद व अन्य पार्षदों द्वारा नजराना राशि भेंट कर सभी देवताओं को विदा किया गया। मेले के अंतिम दिन भी राज दरबार में नाटियों का खूब दौर रहा। लोग अपने-अपने देवी देवताओं के समक्ष देर तक नाचते दिखे। इस बार फाग मेले में जाम ने सभी के पसीने छुड़ा दिए, जहां पुलिस ने जाम को खोलने के लिए काफी मशक्कत की, वहीं गाड़ी चालकों के लिए यह मेला काफी परेशानी वाला रहा। गाड़ी चालक एक से दो घंटे तक जाम में फंसे रहे। पुलिस ने मेले में जाम को खोलने के लिए खास पसीना बहाया, यहां तक कि डीएसपी सोमदत्त व थाना प्रभारी मंगतराम ने भी मेले के चारों दिन सड़क पर जाम को खोलने में मोर्चा संभाले रखा।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)