Header ad
Header ad
Header ad

धर्मशाला भाजपा मंडल के चुनाव में धक्कामुक्की

धर्मशाला : सोमवार को धर्मशाला भाजपा मंडल के चुनाव में धक्कामुक्की और हाथापाई की नौबत पहुंच गई। एक नेता की पसंद पर मंडलाध्यक्ष बनाने के लिए कार्यकर्ता नाराज होकर चले गए। विवाद के बीच शाम को मंडलाध्यक्ष का चयन किया गया लेकिन पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं ने इसके प्रति रोष प्रकट किया।

पहले से ही विधानसभा चुनाव में हार का सामना कर चुकी पार्टी के बीच एक नई लड़ाई पैदा हो गई है। इससे पूर्व दोपहर एक बजे चुनाव होना था, लेकिन ढाई घंटे तक आपसी गहमागहमी चलती रही। साढ़े तीन बजे चुनाव प्रभारी राजीव भारद्वाज ने कैप्टन रमेश चंद के मंडलाध्यक्ष चुने जाने की घोषणा की। इस दौरान महज कुछ कार्यकर्ता ही वहां मौजूद थे व अधिकतर रुष्ट होकर वहां से जा चुके थे।

यूं हुआ विवाद

चुनाव से पूर्व पूर्व उद्योग मंत्री किशन कपूर ने कैप्टन रमेश चंद का नाम मंडलाध्यक्ष के लिए सुझाया लेकिन कार्यकर्ताओं ने उन्हें नया कार्यकर्ता होने पर पद के उपयुक्तहोने पर ऐतराज जताया। इसके बाद कार्यकर्ताओं की ओर से ओंकार नैहरिया और दिनेश कपूर ने अपना नामांकन भरा गया। सहमति बनती न देख पूर्व उद्योग मंत्री सभास्थल से उठकर चले गए। एक बंद कमरे में पद के चयन को लेकर चर्चा की गई। इसके करीब एक घंटे बाद सभास्थल में नए मंडलाध्यक्ष की घोषणा हुई।

सभा में हुई नोकझोंक

चुनाव से पूर्व बैठक में एक व्यक्तिओम प्रकाश चौधरी ने चुनाव की निष्पक्षता पर सवाल खड़े किए। उन्होंने चुनाव लड़ने की इच्छा जताई। वहीं, इस बात को लेकर पूर्व उद्योग मंत्री किशन कपूर के मध्य तीखी नोकझोंक हो गई। इस पर महिला नेत्रियों ने भी ओमप्रकाश चौधरी पर विस चुनाव में पार्टी विरोधी कार्य करने का आरोप लगाया। इसके बाद उन्हें बैठक से बाहर निकाला गया। हालांकि, चुनाव तक ओमप्रकाश चौधरी वहीं रहे।

ओंकार नैहरिया का नामांकन रद

मंडल अध्यक्ष के चुनाव में तीन नामांकन भरे गए। चुनाव प्रभारी राजीव भारद्वाज ने ओंकार नैहरिया के नाम का समर्थन करने वाले का बूथ प्रभारी न होने की औपचारिकता पूरी न होने पर उनका नामांकन रद कर दिया। जबकि, दूसरे प्रत्याशी दिनेश कपूर ने अपना नामांकन वापस ले लिया। इस पर कैप्टन रमेश चंद अकेले प्रत्याशी मैदान में रह गए।

कार्यकर्ताओं ने जताया रोष

चुनाव में कार्यकर्ताओं ने कैप्टन रमेश चंद के नाम पर रोष जताया लेकिन उनके नाम पर मुहर की सूचना मिलने पर सभी वहां से निकल गए। उन्होंने मंडल के लिए योग्य व पार्टी से लंबे समय से जुड़े कार्यकर्ता को इसकी कमान सौंपने पर जोर दिया।

पार्टी का माहौल ठीक नहीं : रमेश

चुनाव में हुए विवाद पर नवनियुक्त मंडलाध्यक्ष कैप्टन रमेश चंद भी चुप नहीं रह सके। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी में माहौल ठीक नहीं है। इस वाकया से उन्हें दुख पहुंचा है।

DJ ……

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)