October 23, 2017

देव भूमि हुई शर्मसार

देव भूमि कहा जाने वाला हिमाचल प्रदेश आज शर्म से सर झुकाये खड़ा है

किसी के पास जवाब नहीं उस सवाल का जो आज प्रदेश की जनता के सामने है, और सवाल है कि

हमारे  घरों की बेटियां कितनी महफूज है, कौन है उनकी सुरक्षा का जिम्मेदार ?

आज इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं, ना ही कोई नेता, ना ही कोई समाज सेवक आज इस सवाल का जवाब देने को त्यार है.

में पूछता हूँ क्या प्रदेश सरकार सो रही है ? जो उसे जनता की आवाज़ सुनाई नहीं देती,

आखिर ये सवाल देव भूमि में उठा ही क्यों ?

ये सवाल अपने पीछे छोड़ गयी तहसील कोटखाई जिला शिमला की एक मासूम गुड़िया जिसके साथ ये अनहोनी घटना उस वक्त हुई जब वो स्कूल से घर वापस आ रही थी.

क्या हमारे बचे स्कूल से घर भी सुरक्षित नहीं पहुँच सकते ?

प्रदेश की जनता गुड़िया के लिए इंसाफ मांग रही है पर ये आवाज़ कानून के रखवालों और सरकार तक नहीं पहुँच पा रही ऐसा कुयों ?

हमे इन्साफ चाहिए उस बहन के लिए उस गुड़िया के लिए

इतने दिनों बाद भी गुड़िया के कातिल वो बहशी दरिंदे बाहर घूम रहे ये केसा नयाय है उस मासूम के  साथ ऐसा घिनोना काम करने वालो के लिए ऐसी सजा होनी चाहिये जो एक मिसाल बने और कोई भी दोबारा देव भूमि को शमर्सार करने की हिम्मत न करे।

पूरा प्रदेश गुड़िया के लिए एक साथ खड़ा हो ये मेरी आप सब से अपील है

साथ ही इस केस में मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए सीबीआई जाँच भी अनिवार्य हो गयी है हम

तेरे कातिलों को नहीं छोड़ेंगे ये वादा है करते है गुड़िया

गुड़िया हम शर्मिंदा है के तेरे कातिल अभी जिन्दा है।

 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *