October 22, 2017

टूटी रेलिंग पर गर्माया सदन, पार्षदों का वाकआऊट

default (14)शिमला: बुधवार को हुई नगर निगम की मासिक बैठक में टूटी हुई रेलिंग पर खूब हंगामा हुआ। पार्षदों ने जोर-शोर से यह मुद्दा उठाया। मामले पर पार्षदों ने सदन से वाकआऊट किया और मेयर मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। बीते मंगलवार निगम के संपदा शाखा विभाग के पास टूटी सीढिय़ों से गिरकर हुई एक बुजुर्ग की मौत से निगम पार्षदों ने प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। इस दौरान छोटा शिमला के पार्षद सुरेंद्र चौहान ने मामले पर प्वाइंट ऑफ ऑर्डर लेते हुए सदन में शहर के ऐसे अनेक खतरनाक प्वाइंट्स पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि शहर में जहां भी रेलिंग टूटी हुई है, डंगे गिरे हुए हैं और सीढिय़ा खस्ताहाल हैं, वहां समय पर कभी भी रिपेयर नहीं होती, जिसका खमियाजा जनता को भुगतना पड़ता है। उन्होंने कहा कि हाल ही में पोर्टमोर स्कूल के पास पेड़ गिरने से वहां कई जगह रेलिंग टूटी हुई है, जो अभी तक नहीं लगाई गई है। इससे वहां गुजरने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जब इस संबंध में संबंधित अधिकारियों से बात की जाती है तो वे इसका एस्टीमेट बनाने की बात करते हैं और ऐसे में मामला लटक जाता है। इस दौरान सभी पार्षदों ने सहमति जताते हुए कहा कि हर वार्ड में ऐसी ही समस्या पेश आ रही है। पिछले कई सालों से ऐसे कार्य रुके पड़े हुए हैं। निगम प्रशासन छोटे-छोटे मुरम्मत कार्यों के लिए भी एस्टीमेट की मांग करता है। इस दौरान पार्षदों ने प्रशासन पर आरोप लगाया है कि हादसा हो जाने के बाद निगम कुंभकर्णी नींद से जागता है। मामले पर सदन गर्माया और पार्षदों ने खूब हंगामा किया। इसके बाद दोनों पार्टियों के पार्षदों ने एकता दिखाते हुए सदन से वाकआऊट किया और पार्षदों ने मेयर व प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। हालांकि कुछ समय बाद पार्षदों ने वापस आकर सदन की कार्यवाही में भाग लिया। मामले पर मेयर ने संबंधित अधिकारियों को 15 दिनों के अंदर शहर में ऐसे सभी मुरम्मत कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए हैं और शहर के खतरनाक प्वाइंट्स को दुरुस्त करने को कहा है। उधर, नगर निगम महापौर ने निगम के तहत विभिन्न शाखाओं तीनों अधीशासी अभियंताओं तथा भवन एवं सड़क निर्माण शाखा के अधीक्षण अभियंता को निगम सदन की बैठक में हमेशा मौजूद रहने के आदेश किए हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *