Header ad
Header ad
Header ad

टऊ व चोला वार्डों को इन्द्रुनाग पंचायत में शामिल किया जाएगा: सुधीर शर्मा

धर्मशाला, 20 सितम्बर- टऊ व चोला वार्डों को कजलोट पंचायत से हटाकर इन्द्रुनाग नाम से नई पंचायत का गठन किया जाएगा। यह जानकारी शहरी विकास एवं आवास मंत्री, श्री सुधीर शर्मा ने आज टऊचोला में जनसमस्याओं को सुनने के उपरांत दी।

श्री सुधीर शर्मा ने बताया कि टऊ में केंद्रीय विश्वविद्यालय की शीघ्र आधारशिला रखी जाएगी। उन्होंने बताया कि टऊचोला में दो हैंडपंप स्थापित किए जायेंगे। उन्होंने बताया कि टऊ में एक सप्ताह के भीतर हैंडलूम केंद्र आ

रंभ कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन दो वार्डों में दो आंगनबाड़ी केंद्र भवनों तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण शीघ्र किया जाएगा।

श्री सुधीर शर्मा ने कहा कि वनगोटू-चोला सड़क का निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण किया जाएगा तथा इस सड़क को मैक्लोड़गंज से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि इन्द्रुनाग साईट को पैराग्लाईडिंग की दृष्टि से विकसित करने के लिए टेक आॅफ प्वाइंट वाले स्थान को वन क्षेत्र से बाहर किया जाएगा।

कजलोट पंचायत के पूर्व प्रधान, श्री हंसराज ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा स्थानीय समस्याओं का जिक्र किया।

इस अवसर पर नगर परिषद् के पूर्व उपाध्यक्ष श्री सुभाष नैहरिया, गद्दी कल्याण बोर्ड के सदस्य श्री होशियार सिंह, गद्दी बहुद्देशीय यूनियन के प्रधान श्री शुभकरण, निदेशक, पर्यटन विकास निगम श्री विजेंद्रकरण, निदेशक एचपीडीआईसी श्री रामस्वरूप शर्मा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

बाद में श्री शर्मा ने ढगवार, योल और बड़ौल में भी जनसमस्याओं को सुना तथा उनका तुरंत निवारण करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को आदेश दिए।

 

 

 

 

Šæ×üàææÜæ, w® çâ̐ÕÚU- ÅUª¤ ß ¿æðÜæ ßæÇUæðü´ ·¤æð ·¤ÁÜæðÅU ´¿æØÌ âð ãUÅUæ·¤ÚU §‹ÎýéÙæ» Ùæ× âð Ù§ü ´¿æØÌ ·¤æ »ÆUÙ ç·¤Øæ Áæ°»æÐ ØãU ÁæÙ·¤æÚUè àæãUÚUè çß·¤æâ °ß´ ¥æßæâ ×´˜æè, Ÿæè âéŠæèÚU àæ×æü Ùð ¥æÁ ÅUª¤¿æðÜæ ×ð´ ÁÙâ×SØæ¥æð´ ·¤æð âéÙÙð ·ð¤ ©UÂÚUæ´Ì ÎèÐ

          Ÿæè âéŠæèÚU àæ×æü Ùð ÕÌæØæ ç·¤ ÅUª¤ ×ð´ ·ð¤´ÎýèØ çßàßçßlæÜØ ·¤è àæèƒæý ¥æŠææÚUçàæÜæ ÚUæè Áæ°»èÐ ©U‹ãUæð´Ùð ÕÌæØæ ç·¤ ÅUª¤¿æðÜæ ×ð´ Îæð ãUñ´ÇU´ S‰ææçÂÌ ç·¤° ÁæØð´»ðÐ ©U‹ãUæð´Ùð ÕÌæØæ ç·¤ ÅUª¤ ×ð´ °·¤ âŒÌæãU ·ð¤ æèÌÚU ãUñ´ÇUÜê× ·ð¤´Îý ¥æÚU´æ ·¤ÚU çÎØæ Áæ°»æÐ ©U‹ãUæð´Ùð ·¤ãUæ ç·¤ §Ù Îæð ßæÇUæðü´ ×ð´ Îæð ¥æ´»ÙÕæÇU¸è ·ð¤´Îý æßÙæð´ ̉ææ âæ×éÎæçØ·¤ SßæS‰Ø ·ð¤´Îý ·¤æ çÙ×æü‡æ àæèƒæý ç·¤Øæ Áæ°»æÐ

          Ÿæè âéŠæèÚU àæ×æü Ùð ·¤ãUæ ç·¤ ßÙ»æðÅUê-¿æðÜæ âÇU¸·¤ ·¤æ çÙ×æü‡æ ·¤æØü àæèƒæý Âê‡æü ç·¤Øæ Áæ°»æ ̉ææ §â âÇU¸·¤ ·¤æð ×ñ€ÜæðÇU¸»´Á âð ÁæðÇU¸æ Áæ°»æÐ ©U‹ãUæð´Ùð ·¤ãUæ ç·¤ §‹ÎýéÙæ» âæ§üÅU ·¤æð ÂñÚUæ‚Üæ§üçÇU´» ·¤è ÎëçcÅU âð çß·¤çâÌ ·¤ÚUÙð ·ð¤ çÜ° ÅUð·¤ ¥æòȤ Œß槴ÅU ßæÜð S‰ææÙ ·¤æð ßÙ ÿæð˜æ âð ÕæãUÚU ç·¤Øæ Áæ°»æÐ

          ·¤ÁÜæðÅU ´¿æØÌ ·ð¤ Âêßü ÂýŠææÙ, Ÿæè ãU´âÚUæÁ Ùð ×éØæçÌç‰æ ·¤æ Sßæ»Ì ç·¤Øæ ̉ææ S‰ææÙèØ â×SØæ¥æð´ ·¤æ çÁ·ý¤ ç·¤ØæР

          §â ¥ßâÚU ÂÚU Ù»ÚU ÂçÚUcæÎ÷ ·ð¤ Âêßü ©UÂæŠØÿæ Ÿæè âéææcæ ÙñãUçÚUØæ, »Î÷Îè ·¤ËØæ‡æ ÕæðÇUü ·ð¤ âÎSØ Ÿæè ãUæðçàæØæÚU çâ´ãU, »Î÷Îè ÕãUéÎ÷ÎðàæèØ ØêçÙØÙ ·ð¤ ÂýŠææÙ Ÿæè àæéæ·¤ÚU‡æ, çÙÎðàæ·¤, ÂØüÅUÙ çß·¤æâ çÙ»× Ÿæè çßÁð´Îý·¤ÚU‡æ, çÙÎðàæ·¤ °¿ÂèÇUè¥æ§üâè Ÿæè ÚUæ×SßM¤Â àæ×æü âçãUÌ ¥‹Ø »‡æ×æ‹Ø ÃØç€Ì ©UÂçS‰æÌ ‰æðÐ

          ÕæÎ ×ð´ Ÿæè àæ×æü Ùð ÉU»ßæÚU, ØæðÜ ¥æñÚU ÕÇU¸æñÜ ×𴠏æè ÁÙâ×SØæ¥æð´ ·¤æð âéÙæ ̉ææ ©UÙ·¤æ ÌéÚU´Ì çÙßæÚU‡æ ·¤ÚUÙð ·ð¤ çÜ° â´Õ´çŠæÌ çߏææ»æ𴠷𤠥çŠæ·¤æçÚUØæð´ ·¤æð ¥æÎðàæ çΰÐ


Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Powered By Indic IME
Type in
Details available only for Indian languages
Settings Settings reset
Help
Indian language typing help
View Detailed Help