October 17, 2017

जिला स्तरीय अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस समारोह मण्डी के विपाशा सदन में आयोजित

Copy of DSCN7071

मण्डी, 08 मार्च – जिला स्तरीय अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस समारोह मण्डी के विपाशा सदन में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस समारोह आज मण्डी के विपाशा सदन में जिला स्तर पर मनाया गया जिसकी अध्यक्षता अस्पताल कल्याण अनुभाग एवं जिला रैडक्रॉस सोसायटी मण्डी डॉ0 पल्लवी गुप्ता ने की । उन्होंने ने इस अवसर पर महिलाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिला मण्डी में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस समारोह प्रत्येक वर्ष की भान्ति 8 मार्च को मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के आर्थिक व सामाजिक उत्थान के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है जिसके लिए महिलाओं को जागरूक होना अति आवश्यक है ताकि महिलाएं इन योजनाओं का लाभ उठाकर आत्मनिर्भर बन सके । उन्होंने बताया कि महिलाओं को स्वयं आगे आ कर समाज में फैली भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा, बाल विवाह, घरेलू उत्पीडऩ जैसी सामाजिक कुरीतियों को समाप्त किया जा सके । उन्होंने कहा कि परिवार में बेटी को बेटे के बराबर का दर्जा प्रदान किया जाना चाहिए ताकि बेटियों को परिवार, प्रदेश व देश में आगे बढऩे के सुअवसर मिल सके । उन्होंने कहा कि आज हमें पुत्री के जन्म पर उतनी ही खुशी मनानी चाहिए जितनी की परिवार में पुत्र के जन्म पर मनाई जाती है । उन्होंने कहा कि बेटियॉं बेटों की अपेक्षा माता-पिता एवं अभिभावकों का ज्यादा ख्याल रखती हैं तथा हर प्रकार की मुसिबत में परिवार व सगे सम्बन्धियों की सहायता करती हैं। डॉं0 पल्लवी गुप्ता ने कहा कि वर्तमान परिवेश में महिलाएं पुरूषों के साथ कंधा से कंधा मिलाकर हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं तथा आज महिलाएं चांद तक पहुॅंच चुकी है। उन्होंने कहा कि महिलाएं शिक्षा, विज्ञान, राजनीति, स्वास्थ्य, पुलिस इत्यादि के क्षेत्र में अग्रसर हो कर प्रदेश व देश का नाम रोशन कर रही हैं । उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला आयोग स्थापित किए गए हैं तथा महिला विकास निगम के माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु महिला मण्डलों, स्वयं सहायता समूहों को चार प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण प्रदान किए जा रहे हैं जिससे महिलाएं स्वावलम्बी बनकर अपना तथा परिवार का अच्छे से पालन-पोषण कर रही हैं । उन्होंने कहा कि बेटी है अनमोल योजना के अन्तर्गत बीपीएल परिवार में जन्मी दो बेटियों के जन्म पर 10-10 हजार रूपये की राशि विभाग द्वारा 18 वर्ष तक की आयु के लिए एफडी करवाई जा रही है तथा प्रत्येक बेटी को प्रथम से 12वीं श्रेणी तक 9200 रूपये की छात्रवृति प्रदान की जा रही है । इस अवसर पर पूर्व अध्यक्षा महिला आयोग कृष्णा टंडन, जिला कार्यक्रम अधिकारी जयपाल, परियोजना अधिकारी डीआरडीए भावना शर्मा, महासचिव मण्डी साक्षरता एवं जन विकास समिति एवं सदस्य बाल संरक्षण आयोग राजेन्द्र मोहन, सह सचिव हिमाचल विज्ञान समिति संजीव ठाकुर तथा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के डी0ओ0 अनिल धीमान ने भी महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया । इस अवसर पर महिला मण्डल व आंगनबाड़ी कार्यकताओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए । मुख्यातिथि द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले व सामाजिक सेवा करने वाली महिलाओं को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया । इस अवसर पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष साक्षरता एवं जन विकास समिति एवं पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष हेमन्तराज वैद्य, अध्यक्षा पंचायत समिति निमर्ला कौण्डल, सीडीपीओ सदर रक्षा शर्मा, रैडक्रॉस सचिव ओ0पी0 भाटिया सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *