October 22, 2017

जर्जर भवन में पढ़ाई, पक्के में रखा कबाड़

2015_1image_01_32_01542912028HMRJAIN10-llनादौन: जहां सरकार बच्चों के उत्थान के साथ-साथ सरकारी स्कूलों में बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर रही है, वहीं उपमंडल नादौन की ग्राम पंचायत कांगू में शिक्षा विभाग की लापरवाही का खमियाजा स्कूल के मासूम बच्चों को स्लेटपोश भवन में टपकती छत के नीचे पढ़ाई करके  भुगतना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार आदर्श राजकीय प्राथमिक पाठशाला कांगू में पहली से 5वीं कक्षा तक के करीब 69 बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इस स्कूल में 3 कमरे पक्के होने के बावजूद बच्चे स्लेटपोश भवन में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं जिस पर शिक्षा विभाग मौन बैठा हुआ है। पक्के कमरों में कबाड़ व लकडिय़ां आदि जमा कर रखी हैं मगर बच्चे स्लेटपोश भवन में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। जहां पर बारिश के मौसम में जगह-जगह से पानी टपकता है और बच्चों को अंदर पानी से भीगते और ठिठुरते हुए पढ़ाई करनी पड़ रही है। बीडीसी सदस्य नीशू जाट ने बताया कि एक ओर शिक्षा विभाग शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाने के लिए लाखों रुपए खर्च कर रहा है और बच्चों को बेहतर सुविधा और प्रदान करने में प्रयासरत है और दूसरी ओर किसी भी घटना से बेखबर बच्चे असुरक्षित भवनों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। उन्होंने शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली पर रोष व्यक्त करते हुए इसकी जांच की मांग की है। क्षेत्र में चर्चा है कि इस तरह के भवनों में बच्चों को पढ़ाया जाएगा तो फिर कौन से माता-पिता हैं जो अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में भेजेंगे। विभाग की लापरवाही के चलते लोग अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में नहीं भेजते हैं जिससे सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या दिनोंदिन घटती जा रही है। स्कूल में बच्चों की पढ़ाई के लिए स्लेटपोश भवन जहां पानी टपकता है और स्टाफ के बैठने के लिए कमरे पक्के हैं। विभाग ने अपने कर्मचारियों की सुरक्षा पूरी तरह से की हुई है मगर बच्चे असुरक्षित भवन में पढ़ाई कर रहे हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *