October 20, 2017

खुले में खाद्य पदार्थ बेचने पर होगा जुर्माना: उपायुक्त

 

 

धर्मशाला(अरविन्द शर्मा ) 26 मार्च

उपायुक्त, सी.पालरासू ने जल जनित रोगों के प्रति सचेत रहने के लिए अधिकारियों व व्यापारियों को निर्देश जारी किये हैं । उन्होंने बताया कि हैजा व अन्य जलजनित रोगों से बचाव के प्रति सचेत रहने के लिए तथा स्वच्छता के प्रति निगरानी रखने के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये हैं । उन्होंने बताया कि अधिकृत अधिकारी जिला में किसी भी दुकान, भवन अथवा बाजार में जाकर निरीक्षण कर सकते है। उन्होंने बताया कि किसी प्रकार की शिकायत या अनियमितताएं पाने पर यह अधिकारी मौके पर ही कार्रवाई करने के लिए सक्षम है। इन आदेशों के उल्लंघन की स्थिति में दोषी के विरूद्व भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अन्र्तगत कार्यवाही की जा सकती है।

    उन्होंने बताया कि जन जनित रोगों की रोकथाम के लिये गली सड़ी अथवा बासी सब्जियों के बेचने पर प्रतिबंध रहेगा । इसके अतिरिक्त होटल ढाबे व खाने-पीने की वस्तुओं को बेचने वाले दुकानदार वस्तुओं को स्वच्छ सुरक्षित व ढक कर रखें तथा आइसक्रीम व पेय पदार्थ, शरबत व नींबू पानी विक्रेता अपने उत्पादों को विषाणु रहित साफ व स्वच्छ पानी से निर्मित कर बेचें । इसके अतिरिक्त खुली मिठाईयां, मांस, मछली, चाट, खोया-गिरी, केक, बिस्कुट, ब्रेड़ एवं खुला दूध इत्यादि भी नहीं बेच सकेगा। किसी भी खाद्य वस्तु को गंदी या टूटी हुई क्राकरी में उपभोक्ता को न परोसें।

    उन्होंने आम जनता से आग्रह किया कि जल जनित रोगों जैसे हैजा इत्यादि के होने पर तुरंत चिकित्सा अधिकारी से सम्पर्क करेंं तथा जहां तक हो सके पानी को उबाल कर ही पीयें।

    उपायुक्त ने बताया कि इन आदेशों की अनुपालना और जिला में निगरानी के लिये मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला चिकित्सा अधिकारी, जिला परिवार कल्याण अधिकारी, जिला टीबी अधिकारी, एसएमओ, एमएस जोनल अस्पताल, हैल्थ सुपरवाईजर, सैनिटरी इंस्पेक्टर, समस्त कार्यकारी दण्डाधिकारी तथा प्राईमरी/कम्यूनिटी व औषधालयों को अधिकृत किया गया है I

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *