October 21, 2017

ऐतिहासिक चौगान मैदान के प्रयोग हेतू बनाए जाएगें नए मापदण्ड-एसडीएम

नाहन - उप मण्डलाधिकारी नाहन श्रीमती ज्योति राणा द्वारा ऐतिहासिक चौगान
मैदान की सुन्दरता एवं गरिमा को बनाए रखने तथा विभिन्न कार्यक्रमों के लिए
मैदान के प्रयोग की अनुमति देने के लिए नये नियम बनाने के लिए उपायुक्त सिरमौर
को विस्तृत रिर्पोट प्रस्तुत की है।
श्रीमती राणा ने अपनी रिर्पोट में कहा है कि ऐतिहासिक चौगान नाहन शहर का सबसे
उत्कृष्ट एवं दर्शनीय स्थल है जहां पर बच्चे तथा नौजवान विभिन्न प्रकार की खेल
गतिविधियों में भाग लेने के साथ-साथ शहर के वरिष्ठ नागरिकों के भ्रमण करने तथा
बैठने का उपयुक्त स्थान है। उन्होने कहा कि इस ऐतिहासिक मैदान के चारों तरफ
स्नातकोत्तर महाविद्यालय, शमशेर वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, दो प्राईमरी स्कूल
तथा ऐतिहासिक गुरूद्वारा स्थित है । उन्होने कहा कि गत वर्ष प्रदेश का राज्य
स्तरीय स्वतन्त्रता दिवस समारोह भी इसी मैदान पर आयोजित किया गया था जिसकी
अध्यक्षता मुख्यमंत्री द्वारा की गई थी।
उन्होने कहा कि हाल ही में नगरपालिका परिषद द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों के लिए
इस मैदान की अनुमति दिए जाने तथा विभिन्न प्रकार के आयोजनों से इस मैदान के
सौन्दर्य को न केवल नुक्सान पहुंचा है बल्कि इस ऐतिहासिक स्थल के उददेश्य को
भी ठेस पहुंची है। उन्होने कहा कि पॉलिथिन तथा प्लास्टीक का प्रयोग करके मैदान
में ही फैंक देने से गन्दगी तथा मैदान में टैण्ट इत्यादि लगाने के लिए मैदान
खोदने के कारण इस मैदान की समतलता को भी काफी नुकसान पहुंच रहा है तथा इस
मैैदान पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के कारण समय समय पर ध्वनि प्रदूषण की
शिकायतें भी प्राप्त हो रही है। जिस कारण विशेषकर बुजुर्गों, रोगियों
विद्यार्थियों की पढ़ाई पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।
श्रीमती राणा ने उपायुक्त से पत्राचार कर आग्रह किया है कि इस ऐतिहासिक चौगान
मैदान के प्रयोग के लिए बनाए गए नियमों को पुनः संशोधित किया जाए तथा इसका
उल्लंधन करने वाले दोषी के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए भी नगरपालिका परिषद
को स्पष्ट निर्देश दिए जाने चाहिए ताकि इस ऐतिहासिक चौगान की गरिमा को कायम
रखा जा सके।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *