Header ad
Header ad
Header ad

उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध शक्ति पीठ श्री नैनादेवी जी में आश्विन नवरात्र मेले 5 से 14 अक्तूबर 2013 तक मनाया जाएंगे।

उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध शक्ति पीठ श्री नैनादेवी जी में आश्विन नवरात्र मेले 5 से 14 अक्तूबर 2013 तक मनाया जाएंगे। यह जानकारी अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्री प्रदीप ठाकुर ने आज नैनोदेवी में मेले के प्रबंध हेतु आयोजित की गई बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान एसडीएम सदर डा. एमएल मेहता मेला अधिकारी होंगे जबकि पुलिस मेला अधिकारी डीएसपी नैनादेवी होंगे। इसी प्रकार मंदिर न्यास अधिकारी श्री मदन लाल शर्मा सहायक मेला अधिकारी जबकि थाना प्रभारी कोट सहायक पुलिस मेला अधिकारी होंगे।
बैठक में मेले के दौरान कानून व्यवस्था, यातायात प्रबंधों, पार्किंग तथा अधिकारियों व कर्मचारियों की आवासीय सुविधा, आवश्यक वस्तुआंे की उपलब्धता, स्वास्थ्य सेवाएं, सफाई व्यवस्था तथा लंगर लगाने, बिजली तथा पेयजल उपलब्ध करवाने बारे भी विस्तृत रूप से चर्चा की गई।
श्री ठाकुर ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से मेला क्षेत्र को नौ सैक्टरों में बांटा जाएगा जिसमें पांच सैक्टर मैजिस्ट्रेटों की नियुक्ति की जाएगी ताकि मेले के दौरान श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की असुविधा न हो।
उन्होंने बताया कि मेले के दौरान दो सूचना केंद्र स्थापित होंगे जिसमें लोक संपर्क विभाग का सूचना केंद्र नए बस स्टैंड तथा मंदिर न्यास का सूचना केंद्र मंदिर परिसर में स्थापित किया जाएगा ताकि श्रद्धालुओं को सूचना उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि मेले शुरू होने से पहले सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए जाएंगे ताकि मेले के दौरान सभी प्रकार की गतिविधियों पर नजर रखी जा सके।
बैठक में चार यातायात बैरियर स्थापित करने का निर्णय लिया गया जो टोबा सीमा पर, घ्वांडल सीमा पर तथा रोपवे के पास स्थापित किए जाएंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि यातायात नियंत्रण के लिए पर्याप्त स्टाफ की नियुक्ति की जाएगी तथा ट्रक, ट्रैक्टर इत्यादि भारी वाहनों को टोबा तक ही आने की अनुमति होगी। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान कोई भी ट्रैक्ट, ट्रक, टेंपों मेले में सवारी लेकर नहीं आएंगे। उन्होंने कहा कि इस तरह के वाहनों को कैंची मोड़, टोबा व भाखड़ा में ही रोक दिया जाएगा। बसों को घवांडल बस स्टेंड तक आने की अनुमति होंगी तथा बस स्टेंड तक आने के लिए टैक्सियों को आने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ को देखने पर ही मेन बस स्टेंड तक ले जाने का निर्णय मौके पर ही लिया जाएगा। उन्होंनें बताया कि पार्किंग घवांडल चैक पर की जाएगी ताकि यातायात में कोई बाधा उत्पन्न न हो। उन्होंने कहा कि पार्किंग के लिए नगर परिषद द्वारा किराया भी निर्धारित किया जाएगा ताकि पार्किंग के लिए कोई ज्यादा किराया न वसूल सके।
श्री प्रदीप ठाकुर ने बताया कि स्वास्थ्य सेवाओं की दृष्टि से मेले के दौरान पांच स्थानों पर स्वास्थ्य सहायता कक्ष नया बस अड्डा, घवांडल, टोबा में स्थापित किए जाएंगे जिसमें दो आयुर्वेदिक स्वास्थ्य सहायता कक्ष भी शामिल है। मेले के दौरान सभी केंद्र 24 घंटे खुले रहेंगे। स्वास्थ्य कक्षों में आॅक्सीजन सिलेंडर, आवश्यक जीवन रक्षक दवाइयां उपलब्ध रहेगी तथा मेले के दौरान दो एंबूलेंस भी उपलब्ध रहेंगी।
उन्होंने कहा कि श्री नैनादेवी जो जिला मुख्यालय से काफी दूरी पर स्थित है में कोई भी अप्रिय घटना होने की स्थिति में पोस्टमार्टम की सुविधा नहीं यह सुविधा भाखड़ा में स्वास्थ्य विभाग सुनिश्चित करेगा। बैठक में सफाई की चर्चा करते हुए बताया गया कि मेले के दौरान सफाई व्यवस्था पर पूरा ध्यान दिया जाएगा तथा इस दौरान 50 से अधिक सफाई कर्मचारी तैनात किए जाएंगे।
बैठक में श्री प्रदीप ठाकुर ने कोलेवालां टोबा के तालाब की सफाई तथा सिंचाई व जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मेले से मेले पेयजल भंडारण टैंकों की सफाई करवाने तथा इनमें कलोरिनेशन करवाने के भी निर्देश दिए। स्ट्रीट लाईट की कमी मेले से पहले पूरी करने खराब लाईटों को ठीक करने के भी निर्देश दिए गए। मेले के दौरान लाईट गुल होने पर जनरेटर की की व्यवस्था को ही कहा गया। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से भिखारियों तथा नकली धातु के छत्र पर विशेष निगरानी की जाएगी तथा आग से बचाव हेतु अग्निशमन यंत्रों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए गए ।
श्री ठाकुर ने कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद नैनादेवी को निर्देश दिए गए है कि कृपाली कुंड की सफाई करवाकर मेले से पहले इसमें स्वच्छ पानी भरवाना सुनिश्चित करें। बैठक में निर्णय लिया गया कि मेले के दौरान माइक, ढोल नगाडों तथा दुकानदारों द्वारा सीडी कैसेट बजाने पर भी प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान नारियल मंदिर परिसर से बाहर ही जमा कर दिए जाएंगे।
उन्होंने बातया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सामान रखने के लिए क्लाॅक रूम भी स्थापित किए गए हैं तथा इनका संचालन होमगार्ड द्वारा किया जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया कि जो अधिकारी व कर्मचारी मेले के लिए तैनात किए जाएंगे वे 30 सितंबर तक आवासीय सुविधा के लिए आवेदन कर सकते हैं।
इस अवसर पर एसडीएम डा. एमएल मेहता, सीएमओ डा. मनोहर कौशल मन्दिर अधिकारी श्री नयनादेवी मदन लाल, जिला लोकसंपर्क अधिकारी अमर सिंह ठाकुर, जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. यूएस चंदेल , डीएफएससी शिवराम , एसडीओ आईपीएच पुनीत शर्मा, एसएचओ कोट गुरदीप सहित विभिन्न सस्थाओं के गणमान्य लोग भी उपस्थित थे । इति

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Powered By Indic IME
Type in
Details available only for Indian languages
Settings Settings reset
Help
Indian language typing help
View Detailed Help