Header ad
Header ad
Header ad

अभिकर्ता टीम का अर्ध -वार्षिक अधिवेशन होटल विशाल रेसीडेंसी घुगगर (पालमपुर) में संपन्न

पालमपुर,6 सितंबर: भारतीय जीवन बीमा निगम पालमपुर के अग्रणी विकास अधिकारी व सीनीयर बिजनैस एसोसिएट मनोज कंवर की अभिकर्ता टीम का अर्ध -वार्षिक अधिवेशन होटल विशाल रेसीडेंसी घुगगर (पालमपुर) में संपन्न हुआ। एलआईसी शिमला मंडल के वरिष्ठ मंडलीय प्रंबधक सतपाल भानू ने समारोह में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। जबकि समारोह में एलआईसी के मैनेजर सेल्ज अशोक ठाकुर,पालमपुर शाखा के प्रबंधक अंजनि कुमार शर्मा,सहायक प्रबंधक अतुल गुप्ता विशेष रूप से उपस्थित रहे। वरिष्ठ मंडलीय प्रबंधक सतपाल भानू ने अपने संबोधन में विकास अधिकारी मनोज कंवर एवं उनकी समस्त टीम को लगातार बेहतर प्रदर्शन करने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि विकास अधिकारी मनोज कवंर व उनकी टीम ने वित्तिय वर्ष 2012-13 में 3.55 करोड़ प्रथम प्रीमियम अर्जित करके 2845 पोलिसी करके सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने आशा जताई कि चालू वित्तिय वर्ष में भी उनकी टीम निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करके नई ऊंचाईंयों को छुएगी। सतपाल भानू ने कहा कि निजी क्षेत्र की कंपनियों से प्रतिस्पर्घा के बावजूद भी एलआईसी जीवन बीमा के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका अदा कर रही है। पिछले वर्ष एलआईसी 367.82 लाख पालिसियों के साथ बाजार में 83.24 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ अव्वल स्थान पर रही। शिमला मंडल ने पिछले साल कुल 170218 दावों के साथ 460 करोड़ रूपए का भुगतान किया तथा चालू वितिय वर्ष में भी 31 अगस्त तक 90256 दावों के तहत 149 करोड़ रूपए का भुगतान किया है। पिछले वर्ष शिमला मंडल ने 364619 पोलिसियों के साथ 310.60 लाख प्रथम प्रीमियम आय अर्जित की। जबकि चालू वित्तिय वर्ष में शिमला मंडल का 403300 पोलिसी तथा 351 करोड़ रूपए प्रथम प्रीमियम आय का लक्ष्य है। अभी तक 31 अगस्त तक शिमला मंडल ने 119209 पोलिसी के साथ 70.49 करोड़ रूपए की प्रथम प्रीमियम आय अर्जित की है। उन्होंने बताया कि शिमला मंडल में सीएलआईए,बीएसी,सूक्ष्म बीमा व डायरेक्ट मार्किटिंग वैकल्पिक चैनल के रूप में कार्य कर रहे है। एलआईसी ने उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए पोर्टल भी बनाया है। जिसमें एलआईसी के बारे में संपूर्ण जानकारी उपलब्ध है,वहीं आनलाईन प्रीमियम भुगतान की सुविधा भी है। अधिवेशन को एलआईसी के मैनेजर सेल्ज अशोक ठाकुर,पालमपुर शाखा के प्रबंधक अंजनि कुमार शर्मा,सहायक प्रबंधक अतुल गुप्ता,विकास अधिकारी मनोज कंवर ने भी संबोधित किया।
बाक्स
एलआईसी शिमला मंडल के वरिष्ठ मंडलीय प्रंबधक सतपाल भानू ने कहा कि एलआईसी ने सामाजिक दायित्व को ध्यान में रखते हुए गोल्डन जुबली फंड बनाया है। इसके तहत दुर्गापुर अनाथालय के लिए 17 लाख रूपए का प्रोजेक्ट मंजूर किया गया है। जबकि 25 लाख रूपए तक के अन्य प्रोजेक्ट भी सामाजिक दायित्व कार्यक्रम के तहत स्वीकृत किए जाएगें। इसमें स्कूलों में कमरों का निर्माण व अन्य सामाजिक कार्यक्रम शामिल है।
बाक्स
एलआईसी के वरिष्ठ मंडलीय प्रबंधक सतपाल भानू ने बताया कि पहली अक्तुबर,2013 से भारतीय जीवन बीमा निगम से बीमा करवाने वाले उपभोक्ताओं को रिस्क कवर पर जमा होने वाली राशि पर 3.03 प्रतिशत सेवा कर अदा करना होगा। उन्होंने बताया कि 30 सितंबर के बाद आईआरडीए के दिशा-निर्देशों के तहत सेविंग व रिस्क कवर में पारदर्शिता को देखते हुए एलआईसी सभी पुरानी पोलिसी को नए सिरे से जारी करने जा रही है। वहीं अब रिस्क कवर पर सेवा कर भी उपभोक्ताओं को अदा करना होगा। यह कर पोलिसी में रिस्क वाले हिस्से पर ही लगेगा,सेविंग वाले हिस्से पर नही।

बाक्स
सतपाल भानू ने वर्ष भर के दौरान उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल करने पर विकास अधिकारी मनोज कंवर की टीम के 20 अभिकर्ताओं को पुरस्कार भी वितरित किए। पुरस्कार प्राप्त करने वाले अभिकर्ताओं में राज कुमार,सुनीत देवी,एसके सोनी,सुरजीत परमार,सुभाष चौहान,सीमा,चंद्रशेखर,राजकुमार,अजित सिंह,ललिता देवी,शोभना सूद,अश्विनी राणा,सरिता सूद,संजीब कटोच,ईश्वर दास,अनूप कुमार,निर्मला देवी,पृथीचंद राणा,दीपिका महाजन,संतोष कटोच तथा सरताज सिंह शामिल है।
बाक्स
एलआईसी शिमला मंडल के वरिष्ठ मंडलीय प्रबंधक सतपाल भानू ने वित्तिय वर्ष 2013-14 की उपलब्धियों के लिए दूसरे वार्षिक अवार्ड-2014 की भी घोषणा की। उन्होंने बताया कि 200 पोलिसी व 25 लाख रूपए प्रथम प्रीमियम आय पर अंबैसडर रिर्सोट मानी में वन नाईट स्टे तथा वार्षिक अवार्ड ट्राफी,300 पोलिसी व 35 लाख एफपीआई पर अंबैसडर रिर्सोट मानी में वन नाईट स्टे,वार्षिक अवार्ड ट्राफी तथा ममेंटो,400 पोलिसी व 50 लाख एफपीआई पर अंबैसडर रिर्सोट मानी में स्पाऊस सहित वन नाईट स्टे तथा वार्षिक अवार्ड ट्राफी मिलेगी। इसमें पिछले वर्ष से 5 प्रतिशत ग्रोथ आवश्यक रहेगी।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *