Header ad
Header ad
Header ad

‘अपने कपड़े उतारो, नहीं तो बदनाम कर दूंगी’

rrrrrrrrp

शहीद भगत सिंह नगर: समाज के प्रतिष्ठित लोगों को दुष्कर्म जैसे अपराधों में साजिशन फंसाने के गत दिवस सामने आए एक मामले की चर्चा अभी खत्म भी नहीं हुई थी कि इसी तरह का एक अन्य मामला थाना बलाचौर में भी उजागर हो गया है। बताया जा रहा है कि आपराधिक साजिश के तहत एल्यूमीनियम के दरवाजे बनाने वाले एक व्यक्ति को दरवाजों का नाप लेने के बहाने एक घर में बुला कर नकली सी.आई.डी. थानेदार व 3 महिलाओं सहित 6 लोगों ने 23 हजार रुपए लूट लिए।पुलिस को दी शिकायत में मलकीत सिंह (39) पुत्र मोहन लाल निवासी हसनपुर खुर्द ने बताया कि उसकी 2 लड़कियां व 1 लड़का है। थाना काठगढ़ के अधीन पड़ते गांव चाहला अड्डे पर वह एल्यूमीनियम के दरवाजे तथा खिड़कियां बनाने का कार्य करता है। उसने बताया कि गत 1 जनवरी को वह अपने परिवार के साथ गांव लोहटा में एक धार्मिक समागम में गया हुआ था वहां उसके पड़ोसी ने बताया कि उसके नाम पर प्रवीन कुमारी नाम की महिला का फोन है जिसे सुनने पर उक्त महिला ने बताया कि उसकी सहेली ने अपने घर के दरवाजे लगवाने हैं जिनका नाप लेने के लिए वह बलाचौर आ जाए। मलकीत सिंह ने बताया कि वह उक्त फोन के बाद बताए हुए स्थान पर चला गया जहां एक स्कूटी पर आई 2 महिलाएं उसे मढियानी रोड पर एक घर में ले गईं। उसने बताया कि उन्होंने उसे घर के भीतर बैडरूम में बैठा दिया। तभी प्रवीन कुमारी ने उसे कहा कि वह अपने सारे कपड़े उतार दे अन्यथा तुम्हें बदनाम कर दूंगी।भय के चलते उसे अपने कपड़े उतारने के लिए मजबूर होना पड़ा। इतनी देर में कमरे में 3 और नौजवान घुस आए जिनमें से 1 व्यक्ति कुलविंद्र सिंह निवासी महिदीपुर जो स्वयं को सी.आई.डी. का थानेदार बता रहा था, ने अपने मोबाइल फोन पर उसकी मूवी बनानी शुरू कर दी जबकि अन्य दोनों नौजवानों तुका निवासी बलाचौर तथा बलविंद्र कुमार उर्फ बिट्टू पुत्र प्रेमचंद निवासी काठगढ़ ने उसे गालियां निकालने के साथ मुंह पर तमाचे भी मारे। उसने बताया कि इसी बीच एक और महिला पिंद्र उर्फ मिंदो पत्नी हरबिलास निवासी मंडियानी रोड बलाचौर जो लंगड़ी थी, भी भीतर आ गई। उसने बताया कि उक्त सारे ही उससे पैसे की मांग करने लगे। उन्होंने डराते हुए कहा कि यदि उसने 2 लाख रुपए नहीं दिए तो वे उसे जेल भिजवा देंगे जिस पर उसने डरते हुए 70 हजार रुपए में सौदा तय कर लिया। उसने बताया कि उक्त लोगों ने उसका बटुआ निकाल कर उसमें पड़े 18 हजार रुपए तथा उसका ड्राइविंग लाइसैंस निकाल लिया तथा शेष पैसों की मांग करने लगे। वह पैसों का प्रबंध करने के लिए अपने एक दोस्त के पास भी गया। इस संबंधी एक पूर्व सरपंच को जानकारी देने के बाद वह उसे लेकर 3 जनवरी को उक्त मिंदो के पास आया तथा उसे 5 हजार रुपए देकर अन्य पैसे देने के लिए 10 जनवरी तक का समय ले लिया। उसने बताया कि उन्हें पता चला है कि उक्त गिरोह के साथ और भी लोग शामिल हैं तथा उन्होंने जरनैल सिंह निवासी साहदड़ा तथा मंगल निवासी गढ़शंकर के साथ भी इस तरह की ब्लैकमेङ्क्षलग की है। पुलिस ने उक्त शिकायत पर कार्रवाई करते हुए गिरोह के 2 सदस्यों पिंद्र उर्फ मिंदो पत्नी हरबिलास निवासी बलाचौर तथा बलविंद्र उर्फ बिट्टू पुत्र प्रेमचंद निवासी काठगढ़ को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

 

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)