October 21, 2017

अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हों उपभोक्ता: बाली

कुल्लू 22 सितंबर 2013

सी.जे.एम. ने पीपलागे में की विधिक साक्षरता षिविर की अध्यक्षता
पात्र लोगों से की मुफ्त कानूनी सहायता का लाभ उठाने की अपील
मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राजीव बाली ने सभी लोगों से आग्रह किया है कि वे उपभोक्ता के रूप में अपने अधिकारों के प्रति हमेशा सजग रहें और सही तोल-मोल करके ही किसी वस्तु की खरीददारी करें। रविवार को ग्राम पंचायत भुईंन के गांव पीपलागे में उपमंडलीय विधिक सेवाएं समिति की ओर से आयोजित विधिक साक्षरता शिविर की अध्यक्षता करते हुए बाली ने यह अपील की।
उन्होंने कहा कि विधिक साक्षरता शिविरों का उददेश्य है कि सभी लोगों को न्याय मिले और आम आदमी अपने अधिकारों व कर्तव्यों के बारे में जागरूक हों। बाली ने बताया कि महिलाओं, बच्चों, आपदा ग्रस्त लोगों, विकलांगों, अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों और सालाना एक लाख रूपये से कम आय वाले लोगों के लिए मुफ्त कानूनी सहायता का प्रावधान है। ये लोग किसी भी तरह के केस में मुफ्त कानूनी सहायता प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें केवल सादे कागज पर आवेदन करना पड़ता है। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने बताया कि विधिक सेवा प्राधिकरण ने ऐसे लोगों के लिए उपमंडल स्तर पर अनुभवी वकीलों के पैनल बनाए हैं। पात्र लोग इन वकीलों में से किसी से भी कानूनी सहायता ले सकते हैं। गवाहों का खर्चा भी विधिक सेवा प्राधिकरण वहन करती है।
इससे पहले वरिष्ठ अधिवक्ता धर्मेंद्र शर्मा ने मौलिक अधिकारों व कर्तव्यों और मोटर वाहन अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों की विस्तृत जानकारी दी। अधिवक्ता सुमीत ठाकुर ने बाल विवाह विरोधी अधिनियम, साइबर अपराध और आईटी एक्ट के बारे में बताया। ब्लाॅक प्लाॅनिंग अधिकारी ने मनरेगा और राष्ट्रीय परिवार सहायता कार्यक्रम की जानकारी दी। पंचायत प्रधान पूनम कंवर और उपप्रधान वीरेंद्र गुलेरिया ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी और अन्य अधिकारियों का स्वागत किया और विधिक साक्षरता शिविर के आयोजन के लिए मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी व उपमंडलीय विधिक सेवाएं समिति का आभार जताया। शिविर में गांव पीपलागे व आस-पास के अन्य गांवों के लोगों ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *